• Aatmik Sandesh Blogs

    An open letter to my atheist friends

    An open letter to my atheist friends Image courtesy: www.izquotes.com More people are rejecting God and Christ, not because of his invisibility in the world but because of lack of his imprints on the believer’s lives and the crime of the organized religion. – Brijesh Chorotia At the outset, I would love to appreciate my atheist friends who send many emails and comments on Facebook on my spiritual posts. Though I disagree with most of them, I want to say that I like atheists more than the religious fundamentalists. I personally am not interested in any kind of religion – you might take time in differentiating my stance as a bible based…

  • Free Hindi e-Book

    जीवन से साक्षात्कार

    प्रसिद्ध दार्शनिक, इतिहासकार और तर्कशास्त्री, बर्ट्रांड रसैल, जो अनेक दार्शनिक ग्रथों के लेखक रहे है तथा जो अपने नास्तिक विचारों के लिए जाने जाते हैं, उन्होंने कहा है कि जब तक हम एक ईश्वर की कल्पना ना करें या उसके अस्तित्व को ना मान लें, तब तक जीवन के उद्देश्य के बारे में सोचना निरर्थक है।प्रसिद्ध दार्शनिक, इतिहासकार और तर्कशास्त्री, बर्ट्रांड रसैल, जो अनेक दार्शनिक ग्रथों के लेखक रहे है तथा जो अपने नास्तिक विचारों के लिए जाने जाते हैं, उन्होंने कहा है कि जब तक हम एक ईश्वर की कल्पना ना करें या उसके अस्तित्व को ना मान लें, तब तक जीवन के उद्देश्य के बारे में सोचना निरर्थक…