Bhej abar rooh ka
भेज अबर रूह का

 

X Download MP3
भेज अबर रूह का

भेज अबर रूह का – 4
छम छम मेंह बरसा – 4
भेज अबर रूह का – 4

सूखी बंजर दिलों की भूमि
रूह अपनी से सींचो
रूह-ए-पाक की बूंदे डालो
बीज कलाम का बीजो
(दोबारा – ऊँचा)
मुझे कर दो हरा भरा-4
छम…

रूह की अग्नि की भट्टी में
झोंक हमें ऐ खुदाया
जैसे पिघल के साफ़ हो चांदी
ऐसा कर खुदाया
(दोबारा – ऊँचा)
हमको भी पिघला-4
छम…

जैसे फ़ौज फरिश्तों की
नबियों के संग रुकता था
अपने रूह की ताकत से
उन नबियों को भरता था
(दोबारा – ऊँचा)
उसी रूह का मज़ा चखा-4
छम…

 

Bhej abar Rooh ka

Bhej abar Rooh ka-4
chham chham meh barsa-4
Bhej abar Rooh ka – 4

sookhi banjar dilo’n ki bhoomi
Rooh apni se seencho
Rooh-e-paak ki boonde daalo
beej kalaam ka beejo
(Repeat) – Higher
Mujhe kar do hara bhara-4
Chham…

Rooh ki agni ki bhatti me
jhonkh hame ae Khudaya
jaise pighal ke saaf ho chaandi
aisa kar Khudaya
(Repeat) – Higher
Humko bhi pighla-4
chham…

Jaise fauj farishto ki
nabiyo’n ke sang rukta tha
apne Rooh ki taqat se
un nabiyo’n ko bharta tha
(Repeat) – Higher
Usi Rooh ka maza chakha-4
Chham…

 


A | B | C | D | E | F | G | H | I | J | K | L | M | N | O | P | Q | R | S | T | U | V | W | X | Y |Listen Songs onlineDownload Songs