ghar wapasi!
Aatmik Sandesh Blogs

घर वापसी | Ghar wapasi | گھر واپسی

घर वापसी

ghar wapasi!

आज बातें तो करने लगे हम लोग घर वापसी की।
2000 साल लग गये इसी बात को समझाते
चलो अब तो कुछ समझ में आया
कि घर वापस लौट के आना है हर भूले को
जो पिता के घर से निकल गया था
अपना भविष्य अपने हाथों से बनाने
पर कौन है पिता और कौन सा है वो घर
जहाँ हमें वापस जाना है, कौन सी घर वापसी
क्या उस पिता का घर नहीं जिसको छोड़
अपनी मर्जी करने हम निकल गये हम इस संसार में
क्या हमारा सृजनहार ही हमारा शाश्वत पिता नहीं?
क्या उसकी आज्ञा तोड़कर हम पापी नहीं हो गये !
क्या उसके प्यार को भुलाकर हम दोषी नहीं हो गये?
सुबह के भूले को घर वापस आना ही चाहिये
गलती का अहसास कर मन फिराना ही चाहिये
अपनी मर्जी करनी छोड़कर,
अब तो पिता के घर वापस आना ही चाहिये
“धर्म में नहीं तुम में ध्यान लगा है मेरा,
तुमको गले लगाना है, अपने पास बिठाना है
घर अपने ले जाने को मैं खुद ही आ गया”
यही बात कहने के लिये यीशु इस संसार में आया
“धर्म नहीं जीवन परिवर्तन चाहिये,
रास्ता बनाने, रास्ता दिखाने, पाप मिटाने, स्वर्गधाम दिलाने”
बोला तो यही उसने,
पर हमने, उसको सूली पर चढ़ा दिया
क्या आज भी, जब जब उसके,
जन्म और मृत्यु को याद करते हैं,
क्रिसमस और गुड-फ्राइडे मनाते हैं,
याद नहीं करेंगे उसको?
घर वापसी की बात तो करते हैं हम,
पर घर वापस क्या चलेंगे नहीं अब
क्यों ना आज माफी मांग ले, अपने गुनाहों की
और स्वीकार कर लें, अपनी सारी गलतियाँ
क्यों ना आत्मा का, परमात्मा से संगम हो जानें दे
ताकि पूरी हो सके
घर वापसी।